भारतीय शिक्षा
मनुष्य में जो संपूर्णता सुप्त रूप से विद्यमान है उसे प्रत्यक्ष करना ही शिक्षा का कार्य है। स्वामी विवेकानन्द                      There are no misfit Children, there are misfit schools, misfit test and studies and misfit examination. F.Burk                     शिक्षा का वास्तविक उद्देश्य आंतरिक शक्तियों को विकसित एवं अनुशासित करने का है। डॉ. राधा कृष्णन                      ज्ञान प्राप्ति का एक ही मार्ग है जिसका नाम है, एकाग्रता और शिक्षा का सार है मन को एकाग्र करना। श्री माँ

अब कालेजों के लिए मान्यता लेना होगा कठिन

अब कालेजों के लिए मान्यता लेना होगा कठिन

May 18, 06:55 pm
नई दिल्ली। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यूजीसी] के नए नियमों के अनुसार किसी महानगर में विश्वविद्यालय से संबद्धता प्राप्त करने के लिए कॉलेज के पास कम से कम दो एकड़ जमीन और सुविधाएं होनी चाहिए, जबकि छोटे शहरों में पांच एकड़ जमीन और पर्याप्त सुविधाएं एवं शिक्षक होने चाहिए।
यूजीसी विश्वविद्यालयों से कॉलेजों को संबद्धता अधिनियम, 2009 में कॉलेजों को विश्वविद्यालय से संबद्धता प्राप्त करने के लिए कड़े नियम बनाए गए हैं। अधिनियम के मुताबिक नए संस्थानों को अस्थायी संबद्धता प्राप्त करनी होगी जिसके बाद किसी विश्वविद्यालय से स्थायी संबद्धता के लिए विचार किया जाएगा।
यूजीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘कॉलेजों की संबद्धता के लिए यह अपनी तरह का पहला अधिनियम है। संबद्धता के लिए यूजीसी ने 2000-01 में कुछ दिशानिर्देश जारी किए थे। दिशानिर्देशों की प्रकृति अधिकांश परामर्श देने वाली थी जबकि हाल में जारी अधिनियम संस्थानों के लिए बाध्यकारी है और इसका उल्लंघन दंडात्मक है।’
अस्थायी संबद्धता के लिए किसी संस्थान के पास प्रशासनिक, शैक्षिक एवं अन्य भवन होने चाहिए। इसके अलावा अन्य जरूरतों को भी पूरा किया जाना आवश्यक है। किसी संस्थान के पास पाठ्यक्रम के मुताबिक 15 लाख से 35 लाख रुपए तक बचत निधि होनी चाहिए।
संस्थान को किसी विश्विद्यालय से संबद्धता के लिए आवेदन करना होगा जिसमें इसे अगले दस वर्षों की योजना का जिक्र एवं शिक्षकों की भर्ती नीति के बारे में बताना होगा।
विश्वविद्यालय विशेषज्ञ समिति के निरीक्षण के बाद अस्थायी संबद्धता देगा। विशेषज्ञ समिति पुस्तकालय, प्रयोगशाला, कक्षाओं, शिक्षक-छात्र अनुपात, शैक्षणिक स्थितियों की जांच करेगी और फिर उसी के अनुरूप अनुशंसा करेगी।
विश्वविद्यालय उन्हीं संस्थानों को स्थायी संबद्धता देगा जिनके पास कम से कम पांच वर्षो की अस्थायी संबद्धता होगी। कॉलेजों को स्थायी संबद्धता के बाद उन्हें यूजीसी से सहायता मिलेगी। नियमों का उल्लंघन करने पर विश्वविद्यालय कॉलेज की संबद्धता खत्म कर सकता है।
यूजीसी ने 41 केंद्रीय विश्वविद्यालयों एवं 256 राज्य विश्वविद्यालयों को नए नियमों का तत्काल प्रभाव से अनुसरण करने का निर्देश दिया है।

One thought on “अब कालेजों के लिए मान्यता लेना होगा कठिन

  1. SACHIN GUPTA

    एक कृषि महाविद्यालय के लिए कितने एकड़ जमीन की जरूरत होती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *